- Advertisements -spot_img

Saturday, January 22, 2022
spot_img

‘पीएम मोदी को नहीं था कोई खतरा’; मुर्दाबाद के नारे लगा रहे प्रदर्शनकारियों के बीच जा पहुंचे सीएम चन्नी

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह अपने ही खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगा रहे प्रदर्शनकारियों के साथ सीधे बात करने के लिए पहुँच गए। दरअसल चन्नी का काफिला निकल ही रहा था कि कुछ प्रदर्शनकारी नारे लगाते हुए रोड पर आ गए। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री ने अपने ड्राइवर से गाड़ी धीमी करने को कहा। इसके बाद चन्नी गाड़ी से उतरे और कुछ दूर पैदल चलते हुए सीधे प्रदर्शनकारियों के पास जा पहुंचे। सीएम चन्नी को अचानक अपने बीच देखकर प्रदर्शनकारी भी हैरान से दिखे। हालांकि इस दौरान उन्होंने अपनी बातें सीएम के सामने रखीं और सीएम ने भी उन्हें अपना पक्ष बताया।

पीएम मोदी का वाहन प्रदर्शनकारियों से एक किलोमीटर पीछे था: चन्नी

इंडिया टूडे की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदर्शनकारियों को देखकर सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा, “यहां देखिए, ये प्रदर्शनकारी मुझे रोकना चाहते हैं। ये प्रदर्शनकारी मुझे रोकने आए थे, क्या मैं इन्हें मार दूं।” उन्होंने कहा, “दस लोग मेरी कार रोकने आए। पुलिस ने काफिले को घेर लिया। उनकी [पीएम मोदी की] कार को तो रोका भी नहीं गया। उनका वाहन [प्रदर्शनकारियों] से एक किलोमीटर पीछे था।”

प्रदर्शन करना लोकतांत्रिक अधिकार: चन्नी

पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा, “प्रदर्शन करना एक लोकतांत्रिक अधिकार है। वे [प्रदर्शनकारी] किसी विभाग के कर्मचारी होंगे, जो चाहते हैं कि आदर्श आचार संहिता लागू होने से पहले उनकी मांगों को पूरा किया जाए। यही कारण है कि वे आज इस मार्ग पर प्रदर्शन कर रहे हैं।” ये कहते हुए चन्नी प्रदर्शनकारियों की आगे बढ़ते रहे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों को सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के खिलाफ नारे लगाते हुए सुना जा सकता है।

चन्नी ने दिया अश्वासन

रिपोर्ट के मुताबिक, चन्नी ने प्रदर्शन कर रहे लोगों से पूछा, “आपकी क्या मांगें हैं।” उनमें से एक ने यह कहते हुए जवाब दिया, “कल चंडीगढ़ में हमारी आपके साथ बैठक है।” इसके बाद सीएम चरणजीत सिंह ने प्रदर्शनकारियों से पूछा, “अगर मैं कल आपकी मांगों को सुनने के लिए तैयार हो गया हूं, तो आप मेरे काफिले में बाधा क्यों डाल रहे हैं?” इस दौरान एक प्रदर्शनकारी ने मुख्यमंत्री से कहा कि दो महीने से अधिक समय से उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया है। पंजाब के सीएम चन्नी ने तब प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया कि वह शुक्रवार को चंडीगढ़ में अपने आधिकारिक आवास पर मिलने पर उनकी मांगों को पूरा करने का प्रयास करेंगे।

मुख्यमंत्री ने इंडिया टुडे से कहा, “आपके माध्यम से मैं देश को बताना चाहता हूं कि [पीएम मोदी को] किसी भी तरह की जान का खतरा नहीं था। यहां तक कि मैं प्रधानमंत्री की लंबी उम्र के लिए भी प्रार्थना करता हूं।”

इससे पहले पंजाब सीएम ने कहा कि एक सेवानिवृत्त उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के नेतृत्व में एक पैनल पीएम नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर यात्रा के दौरान हुई सुरक्षा चूक की जांच करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संबंध में मुझे तीन दिनों में एक रिपोर्ट पेश की जाएगी। जब वह सुरक्षा चूक की जांच के लिए एक समिति बनाने के अपने फैसले के बारे में बता रहे थे तभी उनके काफिले को प्रदर्शनकारियों ने रोक दिया। जिसके बाद सीएम ने जाकर उनसे बात की।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img