- Advertisements -spot_img

Saturday, January 22, 2022
spot_img

करोड़ों रुपए कैश, गहने और कर चोरी, इत्र कारोबारी पंपी जैन के ठिकानों पर छापेमारी में क्या-क्या मिला, IT विभाग ने बताया

अभी हाल ही में आयकर विभाग ने समाजवादी पार्टी के एमएलसी और इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी जैन के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। अब विभाग ने एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया है कि इस छापेमारी में क्या-क्या मिला है। आयकर विभाग की तरफ से बताया गया है कि 31 दिसंबर को इत्र के कारोबार और रियल स्टेट कारोबार से जुड़े 2 ग्रुपों के विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की गई है। 

विभाग की तरफ से बताया गया है कि उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु और गुजरात में करीब 40 ठिकानों पर छापेमारी की गई है। इस छापेमारी के दौरान  पता चला है कि यह ग्रुप कर चोरी में शामिल था। इस छापेमारी में विभाग को जो सबूत मिले हैं उससे पता चलता है कि सेल्स ऑफिस और मेन ऑफिस में ग्रुप ने 35 फीसदी से लेकर 40 फीसदी तक का काम कैश से किया और वो भी कच्चे बिल के जरिए। इन पैसों का जिक्र अकाउंट से संबंधित रेगुलर बुक में नहीं था। विभाग ने बताया कि करीब 5 करोड़ की लेनदेन से संबंधित कोई कागजात नहीं मिली है। 

सबूतों से पता चला है कि इन अचल संपत्तियों का इस्तेमाल मुंबई में रियल स्टेट प्रोजेक्ट में किया गया। इसके अलावा भारत और यूएई में संपत्तियां अधिग्रहित की गई हैं। यह भी पता चला है कि इस ग्रुप ने 10 करोड़ के टैक्स की हेराफेरी की है। इस ग्रुप ने 45 करोड़ के आय के बारे में भी सही-सही नहीं बताया है। छापेमारी में पता चला है कि कंपनी से जुड़ी संस्थाओं ने अपनी आय के बारे में सही-सही ब्यौरा नहीं दिया है। कुछ हिस्सेदारों के पास यूएई में आलीशान मकान होने का भी पता चला है।

यह पता चला है कि ग्रुप से जुड़े यूएई-आधारित एक हिस्सेदार ने 16 करोड़ रुपए से ज्यादा की पूंजी एक भारतीय हिस्सेदार से शेयर किया है। कई अनियमित्ताओं के अलावा यह भी पता चला है कि उत्तर प्रदेश आधारित इस ग्रुप ने सबूतों से छेड़छाड़ की है। 10 करोड़ रुपए की कैश ट्रांजेक्शन का पता चला है जिसका कोई रिकॉर्ड मौजूद नहीं है। इन पैसों को सीज किया गया है। अभी तक 9 करोड़ से ज्यादा रुपए और 2 करोड़ रुपए से ज्यादा कि ज्वैलरी को भी सीज किया गया है। कई बैंक लॉकरों का भी पता चला है।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img