- Advertisements -spot_img

Friday, January 21, 2022
spot_img

CM फेस पर केजरीवाल के ऐलान से दबाव में कांग्रेस, चुनाव से ठीक पहले चल सकती है यह बड़ा दांव

आम आदमी पार्टी ने पंजाब के विधानसभा चुनाव में फ्रंटफुट पर खेलते हुए ऐलान कर दिया है कि वह अगले सप्ताह अपने सीएम उम्मीदवार का ऐलान करेगी। माना जाता है कि 2017 में सीएम फेस न देने के चलते ही आप के पक्ष में माहौल कमजोर रह गया था। ऐसे में इस बार वह सीएम फेस, सही प्रत्याशियों और पूरी तैयारी के साथ उतर रही है ताकि वोटर किसी तरह के संशय में न रहे। लेकिन उसके इस ऐलान ने कांग्रेस खेमे की चिंताएं बढ़ा दी हैं। कांग्रेस ने सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की कलेक्टिव लीडरशिप में उतरने का अब तक फैसला लिया था, लेकिन पार्टी में खींचतान की स्थिति बनी हुई है।

एक तरफ नवजोत सिंह सिद्धू कई बार कह चुके हैं कि बिना दूल्हे के बारात नहीं हो सकती और हाईकमान को सीएम फेस का ऐलान करना चाहिए। वहीं चरणजीत सिंह चन्नी खुद को लोकप्रिय बताते हुए कई बार इशारों में अपने को सीएम घोषित करने की मांग कर चुके हैं। इस बीच आम आदमी पार्टी की ओर से सीएम कैंडिडेट घोषित किया जाना और चिंताएं बढ़ा रहा है। ऐसे में कांग्रेस हाईकमान भी चुनाव नजदीक आने तक सीएम को लेकर कुछ ऐलान कर सकता है। दरअसल सीएम फेस के ऐलान के तुरंत बाद आम आदमी पार्टी पूरे राज्य में यह प्रचार करते हुए दिख सकती है कि कांग्रेस ने तो अपने सीएम तक का ऐलान नहीं किया है।

‘आप’ के ऐलान के बाद ही कोई ऐक्शन लेगी कांग्रेस

ऐसा ही प्रचार कांग्रेस ने 2017 में आम आदमी पार्टी के खिलाफ किया था। अब यही दांव आप की ओर से कांग्रेस के खिलाफ चला जा सकता है। फिलहाल कांग्रेस में सीएम चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू ही मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर रेस में आगे चल रहे हैं। कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने कहा कि पार्टी फिलहाल आप का इंतजार कर रही है कि उसकी ओर से किसे उम्मीदवार घोषित किया जाता है। पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ और प्रताप सिंह बाजवा को भी पार्टी बड़ा रोल देने की प्लानिंग में है। बीते चुनाव में भी एक सप्ताह पहले ही राहुल गांधी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम फेस घोषित किया था।

आखिरी वक्त में चौंका सकती है कांग्रेस

तब कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के खिलाफ पंजाबी बना गैर-पंजाबी का मुद्दा छेड़ा था। इस बार आम आदमी पार्टी वही गलती दोहराने के मूड में नहीं है। दरअसल हाल ही में सीएम चन्नी ने पंजाबियत का मुद्दा उठाया था। पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर हुए आरोप-प्रत्यारोपों के जवाब में भी सीएम चन्नी ने पंजाब कार्ड खेला था। ऐसे में आम आदमी पार्टी भी पंजाब से ही किसी नेता को सीएम उम्मीदवार बनाना चाहती है ताकि पंजाबियत के कार्ड की वह काट कर सके। ऐसी स्थिति में कांग्रेस आखिरी वक्त में चौंकाने का प्लान भी बना सकती है।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img