- Advertisements -spot_img

Friday, December 2, 2022
spot_img

महाराष्ट्र बनाम कर्नाटक: बीजेपी शासित दोनों राज्यों के बीच कैसे शुरू हुआ सीमा विवाद?

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने दावा किया कि महाराष्ट्र के सांगली जिले के कुछ गाँव, जो पानी के संकट से जूझ रहे हैं, ने कर्नाटक के साथ विलय के लिए एक प्रस्ताव पारित किया है। इसके बाद दोनों राज्यों के नेताओं के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया।

इसके तुरंत बाद, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री के दावों का खंडन करते हुए कहा कि ऐसे किसी भी गांव ने कर्नाटक में विलय की मांग नहीं की है। एएनआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्र का कोई भी गांव कर्नाटक नहीं जाएगा।

फडणवीस ने ट्विटर पर लिखा, “महाराष्ट्र का कोई भी गांव कर्नाटक नहीं जाएगा! बेलगाम-करवार-निपानी सहित मराठी भाषी गांवों को पाने के लिए राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट में मजबूती से लड़ाई लड़ेगी।”

इन टिप्पणियों का जवाब देते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बोम्मई ने ट्विटर पर लिखा, “महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कर्नाटक महाराष्ट्र सीमा मुद्दे पर भड़काऊ बयान दिया है। उनका सपना कभी पूरा नहीं होगा। हमारी सरकार देश की जमीन, पानी और सीमाओं की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।”

इस बीच, महाराष्ट्र के विपक्ष के नेता अजीत पवार ने भी दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद पर बोम्मई की टिप्पणी की निंदा की और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से “कड़ा जवाब देने” को कहा।
पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी शिंदे पर कटाक्ष किया और कहा कि उनमें अपने कर्नाटक समकक्ष के खिलाफ बोलने का साहस नहीं है।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img