- Advertisements -spot_img

Sunday, November 27, 2022
spot_img

भारत की विदेश नीति के फिर से मुरीद हुए इमरान खान, तारीफ में जमकर पढ़े कसीदे

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर भारत की विदेश नीति की तारीफ की। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष खान ने शनिवार को अपने ‘लॉन्ग मार्च’ को वर्चुअल संबोधित करते हुए कहा कि भारत की विदेश नीति स्वतंत्र है। रूस से तेल खरीदने के भारत के फैसले के बारे में बोलते हुए, खान ने कहा, “मुझे भारत का उदाहरण लेना चाहिए। देश हमारे साथ स्वतंत्र हुआ और अब उनकी विदेश नीति को देखें। वह एक स्वतंत्र विदेश नीति को फॉलो करता है। भारत अपने फैसले के साथ खड़ा रहा कि रूस से ही तेल खरीदेगा।”

यूक्रेन युद्ध के बीच पश्चिम के दबाव के बावजूद मोदी सरकार द्वारा अपने राष्ट्रीय हितों के चलते रूसी तेल की खरीद की सराहना करते हुए, इमरान खान ने कहा कि भारत और अमेरिका क्वाड सहयोगी हैं, लेकिन अपने नागरिकों के हित के लिए भारत रूस से तेल खरीद रहा है। मालूम हो कि पिछले हफ्ते, अमेरिका के ट्रेजरी सचिव जेनेट येलेन ने कहा था कि भारत जितना चाहे उतना रूसी तेल खरीद सकता है।

देश में जल्दी चुनाव कराने के लिए पाकिस्तान में लॉन्ग मार्च का नेतृत्व कर रहे इमरान खान ने कई बार भारत और भारत की विदेश नीति की तारीफ की है। खान ने पिछले महीने भी भारत की विदेश नीति की सराहना करते हुए कहा था कि भारत रूस से तेल आयात कर रहा है, जबकि पाकिस्तान पश्चिम का गुलाम बन गया, क्योंकि वह अपने नागरिकों के कल्याण के लिए निडर निर्णय लेने में असमर्थ है। इस महीने की शुरुआत में इमरान खान ने मोदी सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा था कि उसके अमेरिका के साथ अच्छे संबंध हैं।

अब भारत की तरह रूस से तेल खरीद सकता है PAK
वहीं, अब क्रूड ऑयल को लेकर पाकिस्तान भी भारत के रास्ते पर चलने पर विचार कर रहा है। पाकिस्तानी मंत्री ने अमेरिका पर निशाना साधते हुए हाल ही में कहा कि वह पाकिस्तान को रूस से तेल खरीदने से नहीं रोक सकता है। बीते दिनों पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने कहा कि अमेरिका पाकिस्तान को रूसी तेल खरीदने से नहीं रोक सकता है और ऐसा जल्द ही संभव होगा। डार ने दुबई में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की थी। सितंबर में अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान डार ने अमेरिकी विदेश विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की थी जिसमें पश्चिम के प्रतिबंधों के बीच रूस से तेल खरीद के मामले पर चर्चा की गई थी. 

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img