- Advertisements -spot_img

Friday, January 21, 2022
spot_img

दिल्ली में कोरोना के लिए नई गाइडलाइंस जारी, 50% क्षमता के साथ ऑड-ईवन आधार पर खुलेंगे बाजार

दिल्ली में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण को देख केजरीवाल सरकार एक्शन में आ गई है। हालात संभालने को कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। बाजारों में उमड़ने वाली भीड़ को काबू करने के लिए सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी कर दी है। अब से केवल ऑड-ईवन के आधार पर बाजार खोलने की ही अनुमति होगी।  

गाइडलाइंस के मुताबिक, गैर-जरूरी सामानों वाले बाजारों / परिसरों और मॉल में दुकानों को सुबह 10 से रात 8 बजे के बीच ऑड-ईवन के आधार पर खोलने की अनुमति होगी। वहीं प्रतिदिन क्षेत्र में केवल एक अधिकृत साप्ताहिक बाजार की अनुमति होगी, लेकिन उसमें भी सामान्य समय पर अनुमत विक्रेताओं की 50% सीमा से अधिक संख्या नहीं होनी चाहिए।

इसके साथ ही सभी जिला मजिस्ट्रेट, नगर निगम, 24 घंटे के भीतर अपने अधिकार क्षेत्र के तहत सभी दुकानों की संख्या का अभ्यास करेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि दुकानें या प्रतिष्ठान ऑड-ईवन सिस्टम के अनुसार सख्ती से खुलें।

इस दौरान सभी को कोरोना नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। दुकानदारों और बाजार में आने वालों को मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

देश में ओमिक्रॉन के मामले बढ़कर 3000 के पार, दिल्ली दूसरे स्थान पर

देश के 27 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron Variant) के अब तक 3,007 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 1,199 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं या विदेश चले गए हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, नए वैरिएंट के महाराष्ट्र में सबसे अधिक 876 मामले सामने आए हैं। इसके बाद दिल्ली में 465, कर्नाटक में 333, राजस्थान में 291, केरल में 284, गुजरात में 204, तमिलनाडु में 121, हरियाणा में 114, और तेलंगाना में 107 मामले सामने आए हैं।

दिल्ली में कोविड-19 के करीब 17 हजार मामले आ सकते हैं : सत्येंद्र जैन

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के करीब 17,000 मामले आने की आशंका है और संक्रमण दर 17 प्रतिशत के आसपास रह सकती है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में सबसे पहले संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी गई क्योंकि ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय उड़ानें राजधानी में आती हैं। जैन ने कहा कि इसलिए हमने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अन्य राज्यों की तुलना में सख्त कदम लागू किए हैं। कुछ लोग कह सकते हैं कि इसकी आवश्यकता नहीं है, लेकिन बाद में पछताने से यह बेहतर है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट को ”हल्का” बताए जाने के संदर्भ में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केवल विशेषज्ञ ही यह बता पाएंगे कि यह हल्का है या नहीं। उन्होंने कहा कि मैं आपको आंकड़े दे सकता हूं, जो मेरे पास हैं। दिल्ली में करीब 31,498 एक्टिव केस हैं और अस्पतालों में केवल 1,091 मरीजों का इलाज चल रहा है। पिछली बार इतने ही मामले थे तो अस्पतालों में करीब 7,000 मरीज भर्ती थे। 

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img