- Advertisements -spot_img

Thursday, January 20, 2022
spot_img

दलबदल ने बदली रणनीति? अब ज्यादातर मौजूदा विधायकों का टिकट नहीं काटेगी BJP!

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा अपने मौजूदा विधायकों की संख्या को सीमित करने पर विचार कर रही है। ऐसी चर्चा है कि पार्टी आलाकमान कई मौजूदा विधायकों को टिकट देने से इनकार कर सकता है। माना जा रहा है कि इस चर्चा की वजह से ही योगी कैबिनेट के तीन मंत्रियों सहित कुछ विधायकों ने पार्टी से इस्तीफे दिया। भाजपा छोड़ने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी, भगवती सागर, विनय शाक्य, रोशन लाल वर्मा, मुकेश वर्मा और बृजेश कुमार प्रजापति शुक्रवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए।

रिपोर्ट के मुताबिक यूपी बीजेपी के एक सीनियर नेता बताया कि ऐसी उम्मीद थी कि इस बार करीब 30% मौजूदा विधायकों के टिकट नहीं मिलेगा। लेकिन पार्टी अब अपना मन बदल लिया है। पार्टी आलाकमान अब केवल 10-15% मौजूदा विधायकों को ही टिकट देने से इनकार कर सकता है। दरअसल, चुनाव से ठीक पहले लगातार कई विधायकों के पार्टी छोड़ने से जनता में योगी सरकार को लेकर नकारात्मक संदेश जाने की आशंका है।

इन विधायकों का टिकट कटने की आशंका 
सूत्रों का कहना है कि भाजपा उन मौजूदा विधायकों के टिकट के काट रही है, जिनके खिलाफ स्थानीय लोगों की नाराजगी है। स्थानीय स्तर पर लोगों का गुस्सा सरकार के प्रति कम अपने जनप्रतिनिधियों के खिलाफ ज्यादा है। लोग चाहते हैं कि भाजपा ऐसे विधायकों को दोबारा टिकट न दे जिनका प्रदर्शन और रिपोर्ट कार्ड खराब है। सूत्रों के मुताबिक, भाजपा आलाकमान ने भी इस बात को गंभीरता से लिया है।

BJP का सामाजिक समीकरण गड़बड़ाया
यूपी में भाजपा बीते छह माह से हर विधायक का जमीनी रिपोर्ट कार्ड तैयार कर रही थी। उसके हिसाब से लगभग 100 विधायकों के टिकट काटे जाने की संभावना भी व्यक्त की जा रही थी। ऐसे में चुनाव की घोषणा होने के बाद एक दर्जन नेताओं का साथ छोड़ना थोड़ा परेशान करने वाला है। पार्टी की सबसे बड़ी दिक्कत इससे बन रहे माहौल को लेकर है, क्योंकि अधिकांश नेता पिछड़ा वर्ग और दलित समुदाय से आते हैं। इनके जाने से उसका सामाजिक समीकरण गड़बड़ाया है।

यूपी में 7 चरणों में होगा मतदान
उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर दी गई है। इस बार यहां सात चरणों में मतदान होगा और 10 मार्च को मतगणना होगी। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में विधानसभा की 403 सीटें हैं। वर्ष 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भाजपा को शानदार सफलता मिली थी। उत्तर प्रदेश में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 14 मई 2022 को समाप्त हो जाएगा।

यूपी में पहले चरण का चुनाव 10 फरवरी को होगा। पहले चरण के मतदान के लिए 14 जनवरी 2022 को नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है और 21 जनवरी तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 24 जनवरी को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी और 27 जनवरी तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img