- Advertisements -spot_img

Sunday, November 27, 2022
spot_img

झारखंड में IT की रेड खत्म, शैल कंपनी बना अवैध निवेश के सबूत मिले; 21 को विधायक अनूप सिंह से पूछताछ

रांची/जमशेदपुर संवाददाता। कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह, प्रदीप यादव समेत कोयला व लौह अयस्क खनन से जुड़े कारोबारियों के खिलाफ आयकर विभाग की कार्रवाई रविवार को खत्म हो गई। इस दौरान कई लोगों द्वारा शेल कंपनी बना अवैध लेनदेन के सबूत मिले हैं। छापेमारी के अंतिम दिन टीम ने अनूप सिंह के रिश्तेदार अंकित सिंह व उनकी कंपनी के निदेशक वागेश चौधरी के यहां से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए हैं। सूत्रों के मुताबिक इन दस्तावेजों में अंकित व उनकी कंपनी के द्वारा सीसीएल अफसरों को बोगस भुगतान व अवैध लेनदेन के सबूत मिले हैं।

नोटबंदी के दौरान बड़ी रकम का कनवर्जन
सूत्रों ने बताया कि छापेमारी में अनूप सिंह के यहां से कैश की बरामदगी नहीं हुई है। लेकिन उनके करीबियों से यहां से जो कागजात मिले हैं, उनमें भ्रष्टाचार के सबूत मिले हैं। यही नहीं नोटबंदी के दौरान बड़ी रकम के कनवर्जन के सबूत भी मिले हैं। इसके अलावा आयकर ने तीन दिन तक विभिन्न जगहों पर हुई छापेमारी में कुल दो करोड़ रुपये जब्त किए हैं। छापेमारी देर शाम तक चली।

21 नवंबर को विधायक अनूप सिंह से पूछताछ
अनूप को 21 को आयकर ने दफ्तर बुलाया इस बीच, अनूप सिंह से पूछताछ के लिए आयकर विभाग कने उन्हें 21 नवंबर रांची स्थित कार्यालय में बुलाया है। इसकी जानकारी खुद विधायक कुमार जयमंगल ने दी। उन्होंने कहा कि वे पहले भी कह चुके हैं कि अगर आईटी टीम उन्हें बुलाती तो वे सारे दस्तावेज उपलब्ध करा सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक सोमवार को आयकर विभाग कार्रवाई के संबंध में अधिकारिक सूचना जारी हो सकता है। इसमें कार्रवाई में मिले कागजात व रकम के बारे में बताया जाएगा।

बीजेपी पर लगाया षड्यंत्र रचने का आरोप
कांग्रेस के विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह ने आयकर विभाग की छापेमारी को राजनीति से प्रेरित बताया। प्रेस क्लब में रविवार को संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि भाजपा चाहती है कि वह उनकी पार्टी में शामिल हो जाएं। जो विधायक भाजपा में नहीं जाना चाह रहे उन पर केंद्रीय एजेंसियों की छापेमारी की जा रही है। पार्टी के टूटने पर दल-बदल का मामला न बने और दो तिहाई विधायक टूट जाएं, यह प्रयास किया जा रहा है। पूरी छापेमारी झारखंड सरकार और यहां के विधायकों को बदनाम करने की साजिश है। देखें अनूप सिंह ने कहा कि आयकर टीम को उनके तीन आवासों से मात्र 1.47 लाख रुपये नकद मिले हैं, जबकि 22.62 लाख के गहने मिले हैं। रांची से 91,400 रुपये नकद मिले, जिसे वापस कर दिया गया। छह पासपोर्ट व 9.91 लाख का सोना, 96 हजार का चांदी मिला।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img