- Advertisements -spot_img

Sunday, November 27, 2022
spot_img

ज्ञानवापीः मुस्लिम पक्ष को झटका, ओवैसी और अखिलेश यादव की बढ़ेंगी मुश्किलें?

ज्ञानवापी परिसर स्थित वुजूखाने में गंदगी करने और नेताओं की बयानबाजी को लेकर दाखिल वाद पर मुस्लिम पक्ष को झटका लगा है। एसीजेएम पंचम/एमपी-एमएलए कोर्ट ने वाद को सुनवाई योग्य माना है।  वाद में एमआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और सपा प्रमुख अखिलेश यादव की बयानबाजी को लेकर केस दर्ज करने की मांग की गई है। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 29 नवम्बर की तारीख नियत की है। 

वरिष्ठ अधिवक्ता हरिशंकर पांडेय ने कोर्ट में अधिवक्ता आरपी शुक्ल,अजय प्रताप सिंह के जरिए कोर्ट में प्रार्थनापत्र देकर आरोप लगाया था कि ज्ञानवापी परिसर में नमाजियों की ओर से वजूखाने में हाथ-पैर धोए जाते है और गंदगी फैलाई जाती हैं। जबकि वह स्थान हमारे अराध्य भगवान शिव का है। यह हिंदू समाज के लिए अपमानजनक है।

इसके साथ ही सर्वे में मिली शिवलिंग जैसी आकृतिक को लेकर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आदि ने बयान देकर हिंदुओं की भावनाओं पर कुठाराघात किया है। अधिवक्ता ने मामले में ज्ञानवापी मस्जिद के अंजुमन इंतजामिया कमेटी के अध्यक्ष मौलाना अब्दुल वाकी, मुफ्ती-ए-बनारस मौलाना अब्दुल बातिन नोमानी, कमेटी के संयुक्त सचिव सैय्यद मोहम्मद यासीन और बयान देने वाले नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है। 

इस मामले में मुस्लिम पक्ष ने अर्जी के खिलाफ पोषणीयता की अर्जी दी थी, जिसे कोर्ट पहले खारिज कर चुकी थी। मामले में चार तिथि पहले अदालत में सुनवाई के बाद कोर्ट ने आदेश सुरक्षित रख लिया था। 15 नवम्बर की पिछली तिथि पर अदालत ने वादी को लिखित बहस दाखिल करने का आदेश दिया था। 

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img