- Advertisements -spot_img

Sunday, November 27, 2022
spot_img

जुकरबर्ग की कंपनी के खिलाफ रूस सख्त, मेटा को अतिवादी लिस्ट में डाला

रूस के न्याय मंत्रालय ने फेसबुक की पैरेंट कंपनी मेटा के खिलाफ बड़ा कदम उठाया है। उसने मेटा को एक्ट्रीमिस्ट यानी अतिवादी लिस्ट में डाल दिया है। रूसी न्याय मंत्रालय ने शुक्रवार को यह फैसला किया। कोमरसेंट अखबार ने इस बाबत समाचार प्रकाशित किया है। वह पहले भी इस सोशल मीडिया कंपनी के खिलाफ सख्त फैसला ले चुका है।

पहले भी की है सख्ती
गौरतलब है कि इससे पहले इसी साल अक्टूबर में रूस ने मार्क जुकरबर्ग की कंपनी को आतंकवादी और अतिवादी संगठन की सूची में शामिल कर दिया था। उससे पहले, मार्च के आखिर में फेसबुक और इंस्टाग्राम को चरमपंथी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए रूस द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया था। रूसी अधिकारियों ने मेटा के ऊपर यूक्रेन में रूस के सैन्य अभियान के दौरान रूसोफोबिया का आरोप लगाया था। गौरतलब है कि यूक्रेन से युद्ध के बाद से ही रूस फेसबुक पर लोगों की सख्त प्रतिक्रिया के लिए सोशल मीडिया कंपनी को ही जिम्मेदार ठहराने लगा था। 

जुकरबर्ग पर भी लगाया था बैन
सिर्फ मेटा के खिलाफ ही नहीं, जुकरबर्ग के खिलाफ भी रूस का रवैया बेहद सख्त रहा है। यूक्रेन के खिलाफ युद्ध के बाद से ही उसने इस सोशल मीडिया कंपनी पर प्रतिबंधों का दौर शुरू कर दिया है। असल में रूस ने जबसे यूक्रेन के ऊपर हमला किया था, तमाम पश्चिमी देशों ने उसके ऊपर प्रतिबंध लगाने शुरू कर दिए। जवाब में रूस भी यही कदम उठाने लगा। रूस ने तमाम लोगों की एक लिस्ट जारी की, जिनके रूस में प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई। इस लिस्ट में अमेरिकी प्रेसीडेंट जो बाइडेन के साथ मार्क जुकरबर्ग का नाम भी शामिल था।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img