- Advertisements -spot_img

Monday, January 24, 2022
spot_img

कोरोना के कहर का भी नहीं हुआ असर, भारतीयों ने सोने की खरीदारी में तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड

भारत ने वर्ष 2021 के दौरान सोने का आयात में 10 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया है। भारत ने 1,050 टन सोने का आयात किया, जिस पर कुल 55.7 अरब डॉलर खर्च किए गए। यह आकंड़ा पिछले वर्ष के मुकाबले दोगुना है, जबकि वर्ष 2011 के बाद सबसे ज्यादा है। सबसे कम 2020 में कोरोना महामारी की वजह से 23 अरब डॉलर से कम का सोना आयात किया गया था।

आंकड़ों के अनुसार 2020 में भारत में करीब 430 सोना आयात किया गया था। इसके कुल कीमत 22 अरब डॉलर थी। वहीं, 2011 में 53.9 अरब डॉलर का सोना विदेशों से खरीदा गया। भारत ने साल 2020 में विश्व के 30 देशों से 377 टन सोने की छड़े और बिस्किट आयात किए।

रिकॉर्ड मांग की यह रही वजह

विश्व स्वर्ण परिषद (डब्ल्यूजीसी) के सीईओ (इंडिया) सोमासुंदरम पीआर का कहना है कि 2021 में स्थिति सुधरने से त्योहारी और शादी के सीजन में गहनों की मांग बढ़ी है, जिसे पूरा करने के लिए कारोबारियों ने सोने का ज्यादा आयात किया। डब्ल्यूजीसी रिपोर्ट बताती है कि बीते अक्तूबर और नवंबर के दौरान त्योहारी सीजन में भारतीयों ने जमकर सोने की खरीद की। इसके बाद शादियों के पीक सीजन के दौरान भी सोने की बिक्री बढ़ी है। दिसंबर में भारत ने 86 टन सोने का आयात किया, जो पिछले साल के 84 टन से थोड़ा अधिक है।

2020 में कम आयात

विश्व स्वर्ण परिषद (डब्ल्यूजीसी) के अनुसार वर्ष 2020 में लगे लॉकडाउन के कारण सोने का आयात सबसे कम रहा। शादी के सीजन के दौरान सोने की मांग सबसे ज्यादा रहती है, लेकिन कोरोना के चलते शादियां 2021 के लिए टाल दी गईं। इसका सीधा असर सोने के आयात पर देखा गया। इस साल 23 अरब डॉलर से कम का सोना आयात किया गया। । अगस्त 2020 में स्थानीय सोने की कीमतें 56,191 रुपए प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गईं थीं। आंकड़ों के अुसार 2021 में स्थिति में सुधार हुआ और साल की शुरुआत में भारत में खुदरा उपभोक्ताओं के लिए सोना अधिक किफायती बना रहा।

2022 में भी दिख सकती है आयात में तेजी

बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि जनवरी में सोने का आयात कम हो सकता है, क्योंकि कोरोना के नए वैरियंट ओमीक्रोन के चलते कई शहरों में प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। इसके चलते ज्वैलर्स ने सोने की खरीदारी कम कर दी है। हालांकि इसका असर शुरुआती महीनों के लिए ही देखने को मिल सकता है। वहीं, सोमासुंदरम ने कहा कि मौजूदा बाजार संकेतों को देखकर उम्मीद है कि 2022 में सोने का आयात इस साल के मुकाबले मजबूत रहेगा।

दूसरा सबसे बड़ा आयातक है भारत

सोने के खपत के मामले में भारत दुनिया में दूसरे स्थान पर है। देश में सोने की जितनी खपत होती है उसका अधिकांश हिस्सा विदेशों से आयात होता है। सोने के कुल आयात में से 44 फीसदी स्विट्ज़रलैंड और 11 फीसदी सयुंक्त अरब अमीरात से खरीदा जाता है। पिछले कुछ साल के दौरान किसी भी वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में सोने के आयात के आंकड़ों पर नजर डालें तो 2014-15 में अक्तूबर से दिसंबर के दौरान 339.3 टन सोने का आयात हुआ था।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img