- Advertisements -spot_img

Monday, January 24, 2022
spot_img

आम आदमी पार्टी में टिकट बंटवारे पर हंगामा, ‘राघव चड्ढा चोर है’ के लगे नारे, पीछे के दरवाजे से भागे

पंजाब विधानसभा चुनाव में भले ही आम आदमी पार्टी कांग्रेस की रार पर निशाना साधती रही है, लेकिन अब वह खुद अंतर्कलह में फंस गई है। शुक्रवार को जालंधर में पार्टी के प्रभारी राघव चड्ढा की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान टिकट बंटवारे को लेकर भारी उपद्रव मच गया। चापलूसों और भ्रष्ट लोगों को टिकट बांटने का आरोप लगाते हुए पार्टी के कार्यकर्ता ‘राघव चड्ढा चोर है’ के नारे लगाते दिखे। भारी उपद्रव की स्थिति पैदा हो गई और कार्यकर्ता आपस में ही मारपीट करने लगे। हालात इतने बिगड़ गए कि राघव चड्ढा को प्रेस क्लब के पिछले दरवाजे से निकलकर भागना पड़ा। 

भाजपा और कांग्रेस के नेताओं की ओर से घटना के वीडियो फुटेज शेयर किए जा रहे हैं। इनमें दावा किया जा रहा है कि कार्यकर्ताओं की पिटाई के चलते राघव चड्ढा मौके से भाग निकले। हालांकि इन दावों की पुष्टि नहीं की जा सकती। कुछ वीडियो में राघव चड्ढा पिछले दरवाजे से निकलते दिख रहे हैं। वह आम आदमी पार्टी में दूसरे दलों से आए नेताओं के स्वागत करने के लिए पहुंचे थे। लेकिन टिकट बंटवारे से नाराज कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया। आम आदमी पार्टी के जालंधर के नेता डॉ. शिव दयाल माली कई कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे और हंगामा करने लगे। इन लोगों के हाथों में काले झंडे थे और सिर पर काली पट्टी बांध रखी थी। ये सारे कार्यकर्ता टिकट बंटवारे में कथित धांधली का विरोध कर रहे हैं। 

राघव चड्ढा चोर है लगे नारे, बीच में ही छोड़कर भागे प्रेस कॉन्फ्रेंस

भ्रष्ट लोगों को टिकट बांटने का आरोप लगाते हुए ये लोग नारे लगा रहे थे, ‘दागी लोगों को टिकट बांटना बंद करो’। राघव चड्ढा की कार को कार्यकर्ताओं ने घेर लिया और उनके खिलाफ ‘राघव चड्ढा चोर है’ के नारे लगाने लगे।  इन कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि लीडरशिप ने पुराने पार्टी कार्यकर्ताओं को किनारे लगा दिया है। हंगामे के चलते राघव चड्ढा की प्रेस कॉन्फ्रेंस एक घंटे लेट हो गई और फिर शुरू भी हुई तो वह बीच में ही छोड़कर निकल गए। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व करने वाले डॉ. शिव दयाल माली ने कहा, ‘पार्टी में अब अच्छे लोग ही नहीं बचे हैं। बस चापलूस चौकड़ी चार बंदों की बची है।’ 

चड्ढा बोले- ये हमारे ही लोग हैं, बैठकर बात करेंगे

उन्होंने कहा कि पार्टी के प्रमुख पदों पर दिल्ली के लोगों को बैठा दिया गया है। पंजाब के लोगों को किनारे लगा दिया गया है। ऐसा लगता है कि पार्टी राज्य में योग्य लोगों की तलाश नहीं कर पा रही है। कार्यकर्ताओं के हंगामे पर राघव चड्ढा ने कहा, ‘वे सभी हमारे ही लोग हैं। हर चुनाव में कुछ लोग टिकट बंटवारे को लेकर नाराज होते ही हैं। हम उन लोगों के साथ बैठकर बात करेंगे।’ इस बीच यूथ कांग्रेस के पूर्व महासचिव दिनेश धर, पूर्व अकाली नेता अमित रतन और डीपीएस वालिया ने आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img