- Advertisements -spot_img

Wednesday, September 28, 2022
spot_img

UP Flood: 24 घर काट चुकी घाघरा नदी, गांव के वजूद पर खतरा, लोगों ने उठाए ये कदम

खमरिया/ईसानगर (लखीमपुर)। धौरहरा तहसील के कैरातीपुरवा गांव के 24 घरों को घाघरा नदी अब तक काट चुकी है। इसी के साथ ही गांव के अस्तिस्व को खतरा पैदा हो गया है। मंगलवार को नदी में 10 घर समा गए जबकि 14 घर पहले ही कट गए थे। नदी की दहशत में लोग गांव से पलायन कर रहे हैं। करीब पचास घरों से आबाद गांव कैरातीपुरवा में अब उंगलियों पर गिनने लायक ही घर बचे हैं। गांव का बड़ा हिस्सा नदी में समा गया है। बीते तीन दिनों में ही घर गंवाने वाले परिवारों की संख्या करीब 24 पहुंच गई। 

मंगलवार की रात तक करीब 10 और घर नदी की भेंट चढ़ गए। गांव के ब्रजमोहन, फूल कुमारी, शिवरानी, रमाकान्त, राजेन्द्र, सतनाम, सियाराम, विनोद, किशुन, निरंकार के घर कट गए हैं। अब केशवराम, आत्माराम, राधेश्याम, रामकुमार, सोनू, प्रमोद के घर नदी की करार पर आ गए हैं। कटान लगातार जारी है। घर ही नहीं, ग्रामीणों की अब तक सैकड़ों बीघे जमीन भी बाढ़ की भेंट चढ़ गई। प्रशासन की ओर से कटान रोकने को कोई बन्दोबस्त नहीं किया गया। यही हाल रहा तो जल्दी ही गांव का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। इस बीच बाढ़ खण्ड ने भी बचाव के उपाय ठप कर दिए। 

ये भी पढ़ें- गोमती नदी की सफाई रोबोट नाव से, ट्रायल शुरू, इस तकनीक से होगी लैस

बाढ़ खण्ड को उम्मीद थी अब कटान रुक गया है। मगर ग्रामीणों को आशंका थी कि कटान फिर से शुरू हो सकता है। बाढ़ खण्ड के तकनीकी अनुमानों पर ग्रामीणों के अनुमान आखिर भारी पड़े। नदी किनारे बसे ग्रामीण अपने अनुभव बताते हुए कहते हैं कि नदी अपनी प्रवृत्ति के अनुसार कटान करती है। जब कटान थमा था तब बाढ़ खण्ड को अपनी कोशिशें तेज़ कर देनी थीं। मगर बाढ़ खण्ड कटान थमते ही रफूचक्कर हो गया। जिस वजह से नदी तेज़ी से कटान करने लगी।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img