- Advertisements -spot_img

Wednesday, September 28, 2022
spot_img

Lucknow News : जिसे भाई बताया था, वह निकला प्रेमी, दूसरे लड़के से दोस्ती पर घोट दिया था गला

लखनऊ में कैसरबाग कोतवाली क्षेत्र स्थित बासमण्डी के होटल जस्ट-9 इन में युवती ने जिस युवक सुशील को अपना भाई बताकर उसके साथ रुकी थी, वही उसका प्रेमी निकला। उसने ही उसकी गला घोट कर हत्या कर दी थी, फिर उसे खुदकुशी का रूप देने के लिये उसके नग्न शव पर चद्दर डालकर गमछे से बाथरूम की खिड़की से लटका दिया था। हत्या के बाद सुशील ने अपने दोस्त राजेश के यहां शरण ली, फिर दूसरे दिन तड़के ही दोनों नेपाल भाग गये थे। नेपाल से ही राजेश आरोपित सुशील को समर्पण कराने के लिये वकील के सम्पर्क में बना रहा। समर्पण करने लिये सुशील व राजेश मंगलवार को लखनऊ पहुंचे थे, तभी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद ही पुलिस ने इस घटना का पर्दाफाश कर दिया।

सुशील ने पुलिस अफसरों के सामने खुलासा किया कि पूर्वांचल की रहने वाली इस युवती से उसके छह साल से सम्बन्ध थे। दोनों की शादी भी तय हो गई थी। कुछ समय पहले उसकी दोस्ती नितिन से हुई और उसके साथ वह ज्यादा समय बिताने लगी। इस वजह से ही उसने युवती की हत्या कर दी। पकड़े जाने के डर से वह फरार हो गया था। सुशील ने यह भी कुबूला कि युवती के नाम एक प्लाट भी दिया था। उसने सोचा था कि शादी होने पर यह प्लाट भी उसके नाम हो जायेगा। इसके कागजात सुशील के पास ही रखे थे। नितिन से नजदीकी बढ़ने पर युवती उससे इस प्लाट के कागज व रजिस्ट्री लौटाने को अक्सर कहने लगी थी। इससे ही उसकी नाराजगी और बढ़ गई थी। पुलिस ने इस मामले में युवती की हत्या के मुकदमे में रेप की धारा भी बढ़ा दी है। 

होटल में झगड़े के बाद गमछे से कस दिया था गला 

डीसीपी पश्चिम एस चनप्पा के मुताबिक गिरफ्तार आरोपित सुशील आलमनगर बादशाहखेड़ा का रहने वाला है। उसके साथ पकड़ा गया राजेश कुमार सिंह इटौंजा के रायपुर का है। 12 सितम्बर को युवती प्रेमी सुशील के साथ होटल पहुंची थी। सुशील को उसने भाई बताया था। दोनों कमरा नम्बर 924 में रुके थे। इससे एक दिन पहले वह नितिन के साथ इसी होटल में कमरा नम्बर 901 में रुकी थी। नितिन को उसने मंगेतर बताया था। सुशील ने बताया कि उसकी होटल में भी नितिन से बात करने को लेकर झगड़ा हुआ था। वह उससे शादी करने से मना कर रही थी। इसके बाद उसके साथ उसने रेप किया, फिर गला कस कर हत्या कर दी। गमछे से गला बांध कर उसका शव बाथरूम से लटका दिया था। 

हत्या के बाद दोस्त के घर रुका, फिर नेपाल भागा
इंस्पेक्टर कैसरबाग अजय नारायण सिंह ने बताया कि सुशील हत्या करने के बाद अपने दोस्त राजेश के घर चला गया था। फिर राजेश के साथ ही सुशील नेपाल चला गया था। नेपाल से ही किसी वकील से बात करने के बाद राजेश ने मंगलवार को समर्पण करने की बात कही थी। इसके लिये वह सुशील को लेकर नेपाल से लखनऊ पहुंचा था। दोनों क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर राजदेव प्रजापति, गोविन्द की रडार पर थे। लखनऊ पहुंचते ही दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों के पास से युवती की जमीन के दस्तावेज, दो मोबाइल और रुपये बरामद हुये हैं। 
दोस्त ने कहा था, चिंता न करो 
हत्या के बाद सुशील ने राजेश को फोन किया था। दोनों लोग 13 सितंबर को तड़के नेपाल चले गए थे। राजेश ने कहा था कि वह उसे समर्पण करा देगा। उसे चिंता करने की जरूरत नहीं। 

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img