- Advertisements -spot_img

Sunday, November 27, 2022
spot_img

Basic Education : बीएसए कार्यालय में बाबुओं के स्थानान्तरण के बावजूद उन्ही से लिया जा रहा है कार्य 

नवागत बाबुओं को नहीं दिया जा रहा है कार्य

लगभग तीन माह से बिना कार्य के बने हुए हैं त्रिशंकु

शासन एवं विभागीय आदेश की उड़ायी जा रही हैं धज्जियां


अम्बेडकरनगर। राज्य सेवकों के स्थानान्तरण के लिए शासन द्वारा जारी शासनादेश 2022 में दी गयी व्यवस्था के अनुसार विगत 05 वर्ष से अधिक समय से एक ही कार्यालय में कार्यरत लिपिक वर्गीय कर्मचारियों को उसी जनपद के अन्य कार्यालय अथवा विद्यालय में स्थानन्तरण किया जायेगा तथा 03 वर्ष में लिपिक के पटल अनिवार्य रूप से बदले जायेंगे। जिसके अन्तर्गत शिक्षा निदेशालय प्रयागराज के आदेश के क्रम में अम्बेडकरनगर के शिक्षा विभाग के भी बाबूओं का स्थानान्तरण किया गया। किन्तु बीएसए अम्बेडकर नगर द्वारा शासन एवं उच्चाधिकारियों के आदेश को ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं,तभी तो बी एस ए कार्यालय से स्थान्तरित हो चुके बाबू से पूर्व की भाँति अभी भी ले रहे हैं कार्य। ये कार्यालय माफिया बाबू के आगे बौना लग रहा है, अधिकारी भी आत्मसमर्पण कर चुके हैं उन्हें ऐसा लगता है कि प्रदेश में वही बाबू ऐसा है जो कार्यालय चला सकता है बिना उसके कार्य नहीं होने वाला है या कोई गहरा रहस्य जो परदे के अंदर रखना चाहते हैं। फिर ऐसा कौन सा रहस्य है कि शिक्षा विभाग के अधिकारी छिपाना चाहते हैं, कि अन्य बाबू के आने से उस रहस्य पर से पर्दा हट जायेगा जिसके डर से अन्य बाबू को या तो कार्यभार ग्रहण नहीं करा रहे है अथवा उन्हें कोई कार्य नहीं दे रहे है। इसका जीता जागता उदाहरण बी०एस०ए० अम्बेडकरनगर कार्यालय है
निदेशालय के आदेश दिनांक 08.6.2022 के द्वारा रविन्द्र नाथ जोशी का स्थानान्तरण बी०एस०ए० दफ्तर से राजकीय बालिका इण्टर कालेज, अकबरपुर अम्बेडकरनगर किया गया किन्तु उन्होंने वहा अभी तक कार्यभार ग्रहण नहीं किया। जोशी के स्थान पर रा०बा०इ०का० अकबरपुर के वरिष्ठ सहायक दिलमगन गौंड का स्थानान्तरण बी०एस०ए० कार्यालय अम्बेडकरनगर में किया गया है। पहले तो बी०एस०ए० द्वारा उनको कार्यभार ग्रहण न करा कर, जोशी बाबू के स्थानान्तरण को रोकने के लिए निदेशालय को पत्र लिखा गया। नये आदेश की प्रतीक्षा में दिलमगन बाबू को कार्यभार ग्रहण नहीं कराया जा रहा था। आदेश संशोधन में बिलम्ब होने पर कार्यभार ग्रहण तो कराया गया परंतु शर्तें भी बे-वहियाद रखी गयी ऐसा कदाचित देखने को मिलेगा। इतना ही नहीं दिलमगन गौंड को कार्यभार ग्रहण किये लगभग तीन माह बीत चुके हैं उन्हें कोई कार्य नहीं दिया गया है। इसी प्रकार धर्मेन्द्र बाबू के स्थानान्तरण से रिक्त पद पर ओंकार वर्मा वरिष्ठ सहायक का स्थानान्तरण राजकीय बालिका इण्टर काॅलेज बेवाना से बी०एस०ए० आफिस अम्बेडकरनगर में किया गया इनको भी कार्यभार ग्रहण किये लगभग तीन माह बीत गया है इन्हें भी कोई कार्य नहीं दिया गया है। ऐसा पहले भी किया गया है, बाबू धर्मेन्द्र कुमार ने वरिष्ठ सहायक के पद पर अन्य जनपद से स्थानान्तरित होकर बीएसए ऑफिस अम्बेकरनगर में कार्यभार ग्रहण किया, किन्तु वरिष्ठ सहायक रविन्द्र नाथ जोशी के प्रभाव के कारण बीएसए द्वारा धर्मेंद्र को विगत दो वर्षों तक कोई कार्य नहीं दिया गया। उपेक्षा का शिकार होने के बाद उन्होंने अपना स्थानान्तरण अयोध्या के कार्यालय में करा लिया। प्रश्न यह उठता है कि इन बाबूओं के स्थानान्तर हो जाने के बावजूद नवागन्तुक बाबूओं से कोई कार्य नहीं लिया जा रहा हैं तो आखिर बी०एस०ए० कार्यालय का शासकीय कार्य पर्दे के पीछे से कौन कर रहा है। नये बाबूओं की उपेक्षा से उनके मन में भी कुन्ठा की भावना पैदा हो सकती है, और उनके मनोबल को ठेस पहुंच रही है। श्री जोशी पिछले लगभग 10-12 वर्षों से बी०एस०ए० कार्यालय अम्बेडकरनगर में कार्यरत हैं। इनके खिलाफ गम्भीर शिकायतें मिलने पर दैनिक समाचार पत्रों में खुलासे भी होते रहे हैं। इसके बावजूद बीएसए उक्त बाबू पर इतने मेहरबान क्यू है। जबकि शासन की स्थानान्तरण पालिसी है कि पांच वर्ष अथवा उससे अधिक समय से एक ही कार्यालय में जमे बाबूओं का स्थानान्तरण किया जाय ताकि प्रशासनिक व्यवस्था में पारदर्शिता लायी जाय। किन्तु अम्बेडकरनगर में जिम्मेदार अपने को शासन एवं विभाग से उपर समझ कर कार्य कर रहे है।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img