- Advertisements -spot_img

Thursday, January 20, 2022
spot_img

2024 में आपको पीएम की शपथ दिलवाएंगे, धर्म सिंह के वादे पर अखिलेश यादव की ताली

योगी कैबिनेट से इस्तीफा देने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य और धर्म सिंह सैनी शुक्रवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। दोनों पूर्व मंत्रियों के साथ बीजेपी छोड़कर गए कई विधायकों ने भी सपा का दामन था लिया। इस दौरान मौर्य और सैनी ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा तो अखिलेश को मुख्यमंत्री बनाने का संकल्प लिया। धर्म सिंह ने तो यह भी कहा कि अखिलेश मार्च में सीएम पद की शपथ लेंगे और 2024 में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। धर्म सिंह की इस घोषणा पर खुद अखिलेश भी ताली बजाते नजर आए।

सैनी ने कहा, ”हम आज मकर संक्रांति पर शपथ लेते हैं कि हम बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के बनाए संविधान को बचाने के लिए, दलितों पिछड़ों के आरक्षण को सुरक्षित रखने के लिए आपको 10 मार्च को मुख्यमंत्री बनाएंगे। जो सम्मान आपने मुझे दिया परिवार के सदस्य की तरह, मैं बसपा में रहा, मंत्री बना, जिसका सूपड़ा हम साफ करके आ रहे हैं, (बीजेपी) उसमें भी रहा, लेकिन जो मानवता, व्यवहारिकता, भाईचारा आपमें देखा है, दुनिया के किसी नेता में नहीं है। आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं, मार्च में आपको यूपी में मुख्यमंत्री और 2024 में आपको पीएम बनवाएंगे।”

सपा कार्यालय में अखिलेश यादव की मौजूदगी में मौर्य के अलावा पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी और विधायक भगवती सागर सहित भाजपा और अपना दल के कुछ विधायकों ने सपा की सदस्यता ग्रहण की। वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में अखिलेश ने पूर्व मंत्री मौर्य और सैनी के अलावा भाजपा छोड़ने वाले पांच विधायकों भगवती प्रसाद सागर, विनय शाक्य, रोशन लाल वर्मा, डॉ मुकेश वर्मा और ब्रजेश कुमार प्रजापति और अपना दल के विधायक चौधरी अमर सिंह को भी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। इस दौरान सपा में शामिल होने वाले पूर्व विधायकों में अली यूसुफ अली, राम भारती, नीरज मौर्या, हरपाल सैनी, राजेन्द्र प्रसाद सिंह पटेल और पूर्व राज्य मंत्री विद्रोही धनपत राम मौर्य के अलावा बलराम सैनी (पूर्व एमएलसी) सहित अन्य नेताओं सपा में शामिल हो गए। 

दौरान स्वामी ने योगी को चुनौती देते हुए कहा, ”इस चुनाव में मुकाबला 15 और 85 प्रतिशत का है। 85 तो हमारा है और 15 में भी बंटवारा है।” उन्होंने योगी सरकार पर दलित, पिछड़े और वंचित वर्गों का आरक्षण निष्प्रभावी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस सरकार में आवेदन और विज्ञापन जारी किए बिना ही आरक्षित वर्ग की सीट, सामान्य वर्ग को दे दी गई। उन्होंने कहा कि अब सरकारी संस्थानों का निजीकरण कर रहे हैं, जिससे आरक्षण अपने आप खत्म हो जाए। स्वामी ने कहा, ”योगी जी को मैं ये कहना चाहता हूं, मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठकर पाप करोगे और दुहाई दोगे हिंदू की, क्या आप की नजर में कुछ बड़ी जाति के लोग ही हिंदू हैं। क्या अनुसूचित जात के लोग हिंदू नही है, पिछड़े वर्ग के लोग हिंदू नही है। यदि ये लोग हिंदू हैं तो इनका आरक्षण क्यों निगल लिया गया।”

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img