- Advertisements -spot_img

Tuesday, August 9, 2022
spot_img

14 साल बाद जेल से बाहर डॉनः फिल्मी कहानी से कम नहीं ब्रजेश सिंह की जिंदगी, मुख्तार अंसारी से तीन दशक पुरानी है अदावत

माफिया मुख्तार अंसारी के जानी दुश्मन और सबसे बड़े विरोधी ब्रजेश सिंह उर्फ अरुण कुमार सिंह 14 साल बाद गुरुवार की शाम जेल से रिहा हो गए। बुधवार को ही उन्हें हाईकोर्ट से मुख्तार अंसारी पर हुए हमले के मामले में जमानत मिली थी। ब्रजेश सिंह की पूरी जिंदगी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। ब्रजेश सिंह पर एक समय हत्या, हत्या के प्रयास समेत दर्जनों केस थे। यही नहीं उन पर मकोका यानी महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट, टाडा यानी टेररिस्ट एंड डिसरप्टिव एक्टिविटीज एक्ट, गैगस्टर एक्ट, हत्या, हत्या की साजिश, दंगा भड़काने, वसूली और धोखे से जमीन हड़पने के मुकदमे दर्ज हुए थे।

ब्रजेश कभी मुख्तार अंसारी के गैंग के लिए भी दहशत का पर्याय रहे तो कभी फरारी के कारण चर्चा में रहे। इस दौरान उनके मारे जाने की भी अफवाह उड़ी। 2008 में भुवनेश्वर से गिरफ्तार होने के बाद 14 साल तक अलग अलग जेलों में रहने के दौरान भी ब्रजेश हमेश चर्चा में रहे। जेल में रहते हुए ही 2016 में वाराणसी की सीट से तब एमएलसी बन गए जब यहां से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सांसद बन चुके थे।

यह भी पढ़ेंः मुख्तार अंसारी का जानी दुश्मन डॉन ब्रजेश सिंह जेल से रिहा

पूर्वांचल में कभी सबसे बड़े माफिया डॉन के रूप में विख्यात ब्रजेश सिंह की मुख्तार अंसारी के गैंग से तीन दशक से भी ज्यादा समय से सीधी लड़ाई चली आ रही है। इस लड़ाई में अब तक दर्जनों लोगों की कुर्बानी हो चुकी है। दोनों ओर से ताबड़तोड़ गोलियां चलीं और सरेराह हत्याएं हुईं। पहली बार एके 47 का भी हत्या में इस्तेमाल इन्हीं दोनों गैंग के बीच हुआ। पूर्वांचल के छोटे-छोटे अपराधियों ने दोनों को ही अपना रोल मॉडल माना और कोई ब्रजेश सिंह के गैंग से जुड़ा तो कोई मुख्तार अंसारी के साथ जुड़ता रहा।

पिता की हत्या ने अपराध की दुनिया में धकेला

वाराणसी के धौरहरा गांव के रहने वाले ब्रजेश सिंह पढ़ाई में एवरेज थे। सिंचाई विभाग के कर्मचारी उनके पिता रविंद्र नाथ सिंह चाहते थे कि बेटा पढ़ाई में बढ़िया करे और IAS बने। ब्रजेश ने अपने पिता के सपने में जान डालने के लिए BSc में एडमिशन ले लिया। तभी जमीनी विवाद के चलते पिता की हत्या कर दी गई। 1984 के इस हत्याकांड के बाद ब्रजेश पिता के सपनों को भूल गए, इसके बाद उन्होंने घर छोड़ा और आरोप है कि यहीं से अपराध की दुनिया में पहुंच गए।

सबसे पॉवर फुल पांचू के पिता की हत्या से चर्चा में आए

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img