- Advertisements -spot_img

Friday, December 2, 2022
spot_img

लगातार मिल रही हार, मुलायम सिंह यादव और आजम खान का गढ़ कैसे बचाएंगे अखिलेश यादव?

एक के बाद एक सीट पर हार से सिमटती जा रही समाजवादी पार्टी के सामने बड़ा सियासी संकट खड़ा होता जा रहा है। लखीमपुर खीरी जिले की गोला गोकर्णनाथ सीट पर सपा को मिली करारी हार के बाद ये सवाल खड़ा हो रहा है। इस सीट पर सपा की भाजपा से सीधी टक्कर थी क्योंकि कांग्रेस और बसपा ने अपने उम्मीदवार नहीं उतारे थे। उम्मीद थी की सपा इस सीट पर बीजेपी को कड़ी टक्कर देगी। उम्मीद की जा रही थी कि गोला गोकर्णनाथ सीट पर जीत के साथ सपा रामपुर और आजमगढ़ सीट पर मिली हार का सिलसिला थामेगी। लेकिन बीजेपी उम्मीदवार अमन गिरी ने सपा उम्मीदवार विनय तिवारी को 34 हजार से ज्यादा वोटों से करारी शिकस्त देकर सपा की हार का सिलसिला जारी रखा है।

अब सवाल ये खड़ा हो रहा है कि सपा की हार का ये सिलसिला कहां जाकर थमेगा? पांच  दिसंबर को मैनपुरी लोकसभा और रामपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव होगा। अगर इन दोनों सीटों पर सपा को हार मिलती है तो ये अखिलेश यादव के लिए जबर्रदस्त झटका होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि मैनपुरी और रामपुर दोनों सीटें समाजवादी पार्टी का गढ़ मानी जाती है। मैनपुरी सीट सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद खाली हुई है। मैनपुरी सीट पर पिछले 33 सालों से सपा का कब्जा है। इस सीट पर कभी मुलायम तो कभी यादव परिवार का ही कोई सदस्य चुनाव जीतता रहा है।

वहीं रामपुर सीट आजम खान का गढ़ मानी जाती रही है। आजम खान को हेट स्पीच मामले में तीन साल जेल की सजा सुनाए जाने के बाद उनकी सदस्यता खत्म कर दी गई थी जिसके चलते अब इस सीट पर उपचुनाव होगा।  

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img