- Advertisements -spot_img

Thursday, January 20, 2022
spot_img

रिश्तों के कत्ल में नहीं कांपते महिलाओं के हाथ, सामने आए चौंकाने वाले आंकड़े

आंचल में दूध और आंखों में पानी व शक्तिस्वरूपा आधी आबादी के बीच कुछ चेहरे चौंकाने वाले भी जब-तब सामने आते रहते हैं। इसी आधी आबादी में तरक्की के तमाम आयाम गढ़ने वाले चेहरे हैं तो जरायम की दुनिया में भी उनका दखल बढ़ा है। जालसाजी, तस्करी से लेकर गैंग चलाने वाली हिस्ट्रीशीटर महिलाएं भी हैं। यहां तक कि रिश्तों का कत्ल करने में भी उनके हाथ नहीं कांप रहे हैं। गोरखपुर जिला जेल में बंद महिलाओं में से ऐसी बंदियों की तादाद ज्यादा है, जिन्होंने अपनों को ही मौत के घाट उतार दिया। महिला बंदियों में आधे से ज्यादा या तो हत्या के जुर्म में जेल पाबंद हैं या फिर सजा काट रही हैं। इन पर पति-पिता, बहू, बेटे, प्रेमी आदि की हत्या का इल्जाम है।

महिला अपराध की बात करें तो एक दशक पहले सबसे ज्यादा दहेज हत्या या फिर उत्पीड़न के मामले थानों तक पहुंचते थे। अब इनमें रिश्तों के कत्ल के शर्मनाक मामले भी शामिल हैं। गोरखपुर के बेलीपार इलाके में मासूम बेटे की पानी की टंकी में डुबो कर हत्या करने का मामला हो या फिर शाहपुर में पति और बेटे के कत्ल का, ये सभी मामले में सुर्खियों में आकर सनसनी बने। इन घटनाओं के बीच हाल के कुछ महीनों में महिला गैंगस्टर, हिस्ट्रीशीटर तक के रूप में महिलाओं का अपराध में दखल बढ़ा है। 

हिस्ट्रीशीटर महिलाएं चला रहीं गैंग

तिवारीपुर की गीता हो फिर गगहा की रिंकू गोस्वामी, दोनों न सिर्फ अपराध करती थीं बल्कि अपराधियों को पालती भी थीं। रिंकू पशु तस्करी और पुलिसकर्मियों की हत्या के प्रयास में आरोपित थी, जबकि गीता भी हत्या के प्रयास और साजिश के केस में जेल गई। शराब तस्करी के मामले में भी महिला पर कार्रवाई हुई। तिवारीपुर से ही शराब कारोबारी महिला पर हाल में ही हत्या का केस दर्ज हुआ। स्मैक के मामले में भी महिला गैंग की सूची पुलिस के पास है। बांसगांव की गैंगस्टर रीना यादव हत्या के केस में जेल में है तो शराब का अवैध धंधा चलाने वाली तिवारीपुर की रंभा भी गैंगस्टर है। उसकी संपत्ति भी जब्त हो चुकी है। खोराबार की सुमन पर अपने दिव्यांग जेठ का अपहरण कराकर हत्या का आरोप है। हाल के दिनों में महिला अपराध का ट्रेंड आर्थिक मामलों में भी बढ़ रहा है। खासतौर पर जालसाजी। नौकरी या जमीन के नाम पर जालसाजी करने वाली महिलाओं पर गोरखनाथ, कैंट और खोराबार में केस दर्ज हैं। एम्स में कैंटीन दिलाने के नाम पर जालसाजी में भी महिलाओं के नाम सामने आए। इनमें से गीता को प्रशासनिक आधार पर देवरिया और सुमन को महराजगंज जेल में शिफ्ट किया गया है।

महिला बंदी-114
– 19 सजायाफ्ता महिला कैदी, आधे से ज्यादा हत्या की सजा काट रहीं
– 95 विचाराधीन महिला बंदी, इनमें आधे से ज्यादा हत्या में जेल पहुंचीं
– 3 महिलाएं पति, एक मां-बाप और एक बेटे की हत्या में बंद है
– 24 महिलाएं चोरी के मामले में, 10 महिलाओं को शराब तस्करी में जेल हुई
– 5 महिलाएं साजिश और जालसाजी में सलाखों के पीछे हैं

 

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img