- Advertisements -spot_img

Thursday, January 27, 2022
spot_img

यूपी: मशाल जुलूस निकाल रहे भाजपा नेताओं को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, बात करने पहुंचे एसपी ग्रामीण और सीओ से हुई धक्का-मुक्की

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के विरोध में मशाल जुलूस निकाल रहे भाजपा कार्यकर्ताओं व हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। आरोप है कि मशाल जुलूस निकालने वालों को सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया। इससे नाराज कार्यकर्ता कोतवाली गेट पर धरने पर बैठ गए। पार्टी के कई बड़े नेताओं के पहुंचने से मामला गर्मा गया। 

सभी ने आरोपी पुलिसकर्मियों को निलंबित किए जाने की मांग की है। देर शाम को वार्ता करने पहुंचे एसपी ग्रामीण संजीव बाजपेई व सीओ से कार्यकर्ताओं ने धक्का-मुक्की कर दी। देर रात एसपी देहात के कोतवाल को लाइन हाजिर करने के आश्वासन और वरिष्ठ भाजपा नेताओं के समझाने पर कार्यकर्ता घरों को लौट गए।

राष्ट्रीय आह्वान पर भाजपा, भारतीय जनता युवा मोर्चा और हिंदू वाहिनी के कार्यकर्ता मशाल जुलूस निकालकर शहीद कुटी पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। सभी पंजाब के सीएम को बर्खास्त करो के नारे लगा रहे थे। भाजपा विस्तारक निखिल चौधरी व हिंदू युवा वाहिनी के जिला उपाध्यक्ष सिद्धार्थ गुप्ता का आरोप है कि मशाल जुलूस के दौरान कोतवाल रविंद्र सिंह भारी पुलिस बल के साथ आए और बिना कुछ पूछे उन पर लाठीचार्ज कर दिया। 

पुलिस ने उन्हें व कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। भाजपा नेताओं ने किसी तरह खुद को बचाया। इसके बाद सभी वार्ता करने के लिए कोतवाल के कार्यालय में गए। पदाधिकारी बातचीत कर रहे थे कि तभी नए पुलिस कर्मियों ने फिर से उन्हें पीटना शुरू कर दिया। नगराध्यक्ष राजीव राठौर का आरोप है कि कार्यकर्ताओं को गिरेबान पकड़कर खींचा गया। 

पुलिस की कार्यशैली से नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोतवल व अन्य आरोपी दरोगा को निलंबित किए जाने की मांग को लेकर थाना गेट पर धरना शुरू कर दिया। सीओ अरविंद कुमार ने मौके पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं को समझाने का प्रयस किया, लेकनि कार्यकर्ता नहीं माने। इस बीच भाजपा विस्तारक निखिल चौधरी से सीओ की जमकर नोकझोंक भी हुई। 

रात करीब पौने दस बजे एसपी ग्रामीण संजीव बाजपेई भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने सीओ के साथ जाकर कार्यकर्ताओं से वार्ता करना चाहा तो कार्यकर्ताओं ने उनसे धक्का-मुक्की कर दी। 

कोतवाल रविंद्र सिंह का कहना है कि शहीद कुटी पर भीड़ के साथ लोग मशाल लेकर इकट्ठे हुए थे। आगजनी की आशंका को लेकर पुलिस मौके पर जब पहुंची तो भीड़ के लोग भाग खड़े हुए थे। किसी भी कार्यकर्ता पर कोई लाठीचार्ज नहीं किया गया है। लाठीचार्ज की बात कहना बिल्कुल निराधार है।

कार्यकर्ता की संख्या के साथ बढ़ता गया बवाल

भाजपा के जिला उपाध्यक्ष अरूण यादव चैनू भी अपने दर्जनों कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे और आरोपी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग की। हिन्दू युवा वाहिनी के जिलाध्यक्ष स्वप्निल शर्मा भी साथियों के साथ कोतवाली गेट पर पहुंच गए। कार्यकर्ताओं की संख्या के साथ ही बवाल बढ़ने लगा। टकराव की आशंका के चलते कई थानों की पुलिस को बुलाया गया।

तिलहर विधायक रोशन लाल वर्मा ने कहा, ‘भाजपा इकाई के कार्यकर्ताओं पर जो लाठीचार्ज किया गया है, वह पुलिस की दबंगई दर्शाती है। पुलिस की इस कार्यशैली को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कार्यकर्ताओं का सम्मान बरकरार रखा जाएगा। दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई कराए जाने के लिए पुलिस के उच्चाधिकारियों से वार्ता की जा रही है। अभी में लखनऊ में हूं। वापस आते ही कार्यकर्ताओं से मुलाकात करुंगा।’

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img