- Advertisements -spot_img

Friday, August 19, 2022
spot_img

यूपी का वो शख्स, जिसका शहीद होने की खुशी में फांसी मिलने तक बढ़ गया था वजन

मितौली तहसील के भीखमपुर गांव के रहने वाले राज नारायण मिश्र जंग-ए-आजादी के आखिरी शहीद थे। अंग्रेजी हुकूमत ने नौ दिसंबर 1944 को उन्हें लखनऊ जेल में फांसी दी थी। इससे पहले सजा से बचने के लिए उनको माफीनामा देने की छूट भी दी गई लेकिन उन्होंने माफीनामा लिखने से इनकार कर दिया। राज नारायण मिश्र से जुड़ी दास्तान उनके गांव के लोग अब भी बड़ी शान से सुनाते हैं। उनके खानदान व रिश्तेदार बताते हैं कि वे मातृवेदी नाम का एक संगठन चलाते थे। इसके जरिए वह युवाओं को अंग्रेजी सरकार के जुल्म की दास्तान तो बताते ही थे, साथ ही सरकारी मशीनरी के खिलाफ आंदोलन की जमीन भी तैयार कर रहे थे।

अमर शहीद राज नारायण मिश्रा के पौत्र संजय मिश्रा बताते हैं कि साल 1942 का वक्त था। अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन चल रहा था। इस दौरान युवाओं ने संकल्प लिया कि वे अपने जिले से अंग्रेजी हुकूमत की जड़ें उखाड़ कर फेंक देंगे। युवाओं की अगुवाई दादा राजनारायण कर रहे थे। निर्णय लिया गया कि अंग्रेजी सरकार की मशीनरी को कमजोर किया जाए। इसके लिए हथियार एकत्रीकरण का अभियान चला लेकिन शर्त यह थी कि अभियान अहिंसक रहेगा। अंग्रेजों की नौकरी कर रहे भारतीयों को समझाकर उनसे हथियार लिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें : इत्र के कारखानों में उबलती थी अंग्रेजों के खिलाफ बगावत, यहीं पर आजादी के सिपाहियों को मिलती थी पनाह 

सरकार ने गिरा दिया था घर, परिवार को दीं यातनाएं

बताया जाता है कि मोहम्मदाबाद के जिलेदार से हथियार लेने के दौरान विवाद हो गया। गोली चल जाने से जिलेदार की मौत हो गई थी, जिसके बाद वह गांव से चले गए थे। इसके बाद अंग्रेजी सरकार कहर बनकर टूट पड़ी। राज नारायण के न मिलने पर उनके परिवार वालों को यातनाएं दी। घर गिरा दिया। आंगन में नमक डालकर हल चलवा दिया। सिपाही घर में लूटपाट कर ले गए। मजबूरी में परिवार ने घर व गांव छोड़ दिया। इस बीच राजनारायण मिश्र अलग-अलग नामों से देश के कई हिस्सों में रहते रहे।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img