- Advertisements -spot_img

Sunday, November 27, 2022
spot_img

भाभी से चिढ़ी ननद ने पांच महीने के मासूम की कर दी हत्‍या, नदी में जिंदा फेंका; फिर कंबल से दबाकर ले ली जान

कानपुर के बिल्हौर के लालूपुरवा गांव में भाभी से चिढ़ी एक ननद ने पांच महीने के मासूम की निर्ममता से हत्‍या कर दी। पुलिस ने मासूम का शव मिलने के 36 घंटे बाद घटना का खुलासा कर दिया है।

लालूपुरवा गांव निवासी रिंकू का पांच माह का बेटा सुशील 14 नवंबर को अचानक घर से लापता हो गया था। उनकी तहरीर पर पुलिस ने बहनोई देशराज के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की थी। शुक्रवार को घर के पास उसका ईशन नदी में मासून का शव पड़ा मिला था। रविवार सुबह पुलिस ने खुलासा कर दिया कि मासूम की जान बुआ सीता ने ही ली थी। इंस्पेक्टर बिल्हौर अतुल कुमार के मुताबिक, आरोपित सीता को अपहरण के साथ हत्या और साक्ष्य मिटाने की धाराओं में जेल भेजा गया है। उसके साथ चार महीने का बच्चा ऋषभ भी है।

पुलिस के सामने कबूली वारदात 
इंस्पेक्टर बिल्हौर अतुल कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस हिरासत में सीता ने कहा कि उसका पति देशराज से विवाद चलता था। इसलिए वह मायके में रहती थी, जहां भाभी राजकुमारी से उसकी नहीं बनती थी। पति और भाभी दोनों ही खटकते रहते थे। इसलिए उसने पति को फंसाकर भाभी की जिंदगी भी बर्बाद करने की योजना बना डाली। 14 नवंबर को घर में सो रहे मासूम को उठाकर जिंदा ईशन नदी में नाव के पास फेंक दिया। ऊपर से कपड़ा व कंबल डालकर उसे दबा दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

ममता पर भारी इंतकाम की आग
लालूपुरवा में रिंकू के आंगन में दो मांएं थीं। दोनों की ही गोद में लगभग हमउम्र मासूम पल रहे थे। एक मां रिश्ते में रिंकू की बहन है यानी सीता और दूसरी पत्नी यानी राजकुमारी। देखने में तो सबकुछ सामान्य लग रहा था पर रिंकू को क्या पता था कि जिस बहन को पति से अनबन के बाद अपने साथ अपने आंगन में रखा है, उसके सीने में इंतकाम की ऐसी आग जल रही है, जो उसका सबकुछ छीन लेगी। पति से विवाद के चलते सीता उससे तो बदला लेने की फिराक में थी ही। इसी बीच, भाभी भी उसे विलेन दिखने लगी है। जाहिर है पति का घर छोड़कर मायके आई ननद राजकुमारी को फूटी आंख नहीं सुहाती होगी। इस पर उसने जो खौफनाक योजना बनाई, उसके बारे में जानकर हर किसी के तिरपन कांप उठे। एक ही आंगन में साथ-साथ बिस्तर पर लेटे-लेटे अठखेलियां करने वाले दो मासूमों में से एक की हत्या की योजना बनाती सीता की ममता तनिक नहीं जागी और बेरहमी से उसका कत्ल कर डाला। गांव वाले घटना के खुलासे के बाद यही सवाल उठा रहे थे कि आखिर इंतकाम की ऐसी कौन सी आग थी जो ममता पर भारी पड़ गई।

मां ने पहले जताया था शक
बच्चे की मां राजकुमारी को पहले ननद पर शक था। शुक्रवार शव मिलने पर उसने पुलिस के सामने ननद पर बच्चे की हत्या करने का आरोप भी लगाया था। खुलासा करने वाली पुलिस टीम को डीसीपी वेस्ट की ओर से 5000 रुपये का इनाम दिया गया है। पुलिस कमिश्नर ने टीम के सभी सदस्यों को प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की है।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img