- Advertisements -spot_img

Thursday, January 20, 2022
spot_img

भाजपा में शामिल हुए पूर्व IPS असीम अरुण, बोले-पीएम मोदी ने दी विकास की नई राह

लाइव हिन्दुस्तान ,लखनऊDinesh Rathour

Sat, 15 Jan 2022 09:01 PM
भाजपा में शामिल हुए पूर्व IPS असीम अरुण, बोले-पीएम मोदी ने दी विकास की नई राह

इस खबर को सुनें

कानपुर के पूर्व कमिश्नर असीम अरुण ने पिछले दिनों नौकरी से वीआरएस लेकर शनिवार को भाजपा में शामिल हुए। लखनऊ में भाजपा दफ्तर पहुंचकर उन्होंने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। कार्यकर्ताओं ने भी असीम अरुण का भाजपा में आने पर जोरदार स्वागत किया। इस दौरान असीम अरुण ने कहा, भाजपा ने मुझे और अधिक सामाजिक कार्य करने के लिए राजनीति चुनने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा, ऐसे कई काम हैं जो मैं अपने कार्यकाल के दौरान नहीं कर सका, इसलिए राजनीति में आने का फैसला किया। उन्होंने कहा, मैं पीएम मोदी से भी प्रभावित हूं, जिन्होंने विकास की नई राह दी है।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव की अधिसूचना से पहले कानपुर के पहले पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने नौकरी छोड़ दी थी। उन्होंने आठ दिसंबर को वीआरएस लेने का फैसला लिया था। चर्चा है कि असीम अरुण भाजपा के टिकट पर कन्नौज से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। असीम अरुण मूलरूप से कन्नौज के ही रहने वाले हैं। उनके पिता स्व. श्रीराम अरुण उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक रहे हैं। यूपी आईपीएस अफसरों में असीम अरुण की तेजतर्रार अफसरों में गिनती होती है। वह एटीएस के आईजी रह चुके हैं। लखनऊ में आतंकी सैफुल्लाह के एनकाउंटर में अहम भूमिका रही। कई आतंकी साजिश का खुलासा किया। एडीजी पद पर प्रमोट होने के बाद कानपुर के पहले पुलिस कमिश्नर बनाए गए थे। 

कन्नौज की सियासत में उलटफेर, दावेदारों को लगा झटका 

असीम अरुण के भाजपा के टिकट से कन्नौज सदर सीट से चुनाव लड़ने की चर्चा है। हालांकि उनके टिकट की अभी अधिकारिक रूप से ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन यह तय माना जा रहा है कि वह कन्नौज सीट से ही दावेदारी करेंगे। ऐसा हुआ तो न सिर्फ कन्नौज सीट पर बल्कि बाकी की दोनों सीट पर भी इसका असर पड़ सकता है। 

गांव से है गहरा लगाव

असीम अरुण का जन्म हालांकि बदायूं में हुआ है, लेकिन अपने पैतृक गांव से उनका गहरा लगाव रहा है। यही वजह है कि वह समय-समय पर यहां आते रहे हैं। कानपुर का पहला पुलिस कमिश्नर बनने के बाद भी वह यहां आते रहे हैं। उनके गांव से लगाव को देखते हुए ही समझा जा रहा है कि सियासत में एंट्री लेने के फैसला किया गया है।

अगला लेख

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img