- Advertisements -spot_img

Thursday, February 2, 2023
spot_img

बाहुबली विधायक रमाकांत जहरीली शराब कांड का है मास्टरमाइंड,पुलिस विवेचना में सामने आया नाम

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले से माहुल जहरीली शराब कांड को लेकर बड़ी खबर सामने आई है।पुलिस जहरीली शराब कांड के मास्टर माइंड तक पहुंच गई है।भांजा रंगेज नहीं मामा बाहुबली विधायक रमाकांत यादव मास्टरमाइंड है।पुलिस की विवेचना में इसकी पुष्टि हुई है।जेल में बंद विधायक रमाकांत यादव को आज कोर्ट ने 14 दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया।

एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि विवेचना के दौरान रमाकांत यादव का नाम माहुल जहरीली शराब कांड में सामने आया है। न्यायालय से पुलिस को 14 दिन की रिमांड मिल गई है।अब उससे पूछताछ होगी।उन्होंने बताया कि इस मामले में अब तक छह आरोपियों पर रासुका और 13 पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई हो चुकी है।अभी विवेचना चल रही है।जिसका भी नाम प्रकाश में आएगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

13 से ज्यादा लोगों की हुई थी मौत

आपको बता दें कि आजमगढ़ नगर पंचायत के माहुल में फरवरी 2022 में जहरीली शराब की वजह से 13 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी।कई लोगों की आंखों की रोशनी चली गई थी।बाहुबली विधायक रमाकांत यादव का भांजा रंगेश की माहुल स्थित सरकारी देसी शराब की दुकान से जहरीली शराब बेची गई थी।पुलिस ने इस मामले में 25 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया।इसमें विधायक रमाकांत यादव का भांजा रंगेश यादव भी शामिल है। पुलिस विवेचना शुरू होने के पहले तक रंगेश को ही जहरीली शराब कांड का मास्टरमाइंड माना जा रहा था। पुलिस को रमाकांत पर शक तो था,लेकिन साक्ष्य के अभाव में रमाकांत के गिरेबान तक नहीं पहुंच पा रही थी।
पांच दिन पहले एक पुराने मामले में कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी लगाने आए रमाकांत यादव को न्यायालय के निर्देश पर जेल भेज दिया गया था।दो दिन पहले रमाकांत ने जमानत के लिए अर्जी लगाई तो दो मामलों में उनकी जमानत मंजूर हुई तो 307 के एक मामले में रमाकांत की जमानत अर्जी खारिज कर दी गई।

पुलिस के हाथ लगे अहम साक्ष्य

इसी बीच माहुल जहरीली शराब कांड में चल रही विवेचना के दौरान पुलिस को कुछ ऐसे साक्ष्य मिल गया।जिसने रमाकांत यादव की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। मिले साक्ष्य के आधार पर इस बात की पुष्टि हो गई है कि भांजा रंगेश नहीं बल्कि रमाकांत यादव ही जहरीली शराब कांड के मास्टरमाइंड हैं।इसके बाद पुलिस रमाकांत पर शिकंजा कसने की तैयारी में जुट गई। न्यायालय में रमाकांत को रिमांड पर लेने के लिए पुलिस ने अर्जी लगाई गई थी। जिस पर शनिवार को पुलिस को 14 दिनों की रिमांड भी मिल गई है।

जेल से बाहर आना होगा अब मुश्किल

बाहुबली रमाकांत यादव मौजूदा समय फूलपुर-पवई विधान सभा सीट से समाजवादी पार्टी के विधायक हैं।इसके पहले रमाकांत पांच बार विधायक और चार बार आजमगढ़ सीट से सपा, बसपा और भाजपा के टिकट पर सांसद रह चुके हैं। रमाकांत यादव की पहचान बाहुबली के रूप में है।रमाकांत पर कुल सात मुकदमे दर्ज हैं।जिसमें पवई थाने का घेराव, दीदारगंज थाने का घेराव, अंबारी चौक पर फायरिंग, सरायमीर थाने में दर्ज एससी-एसटी का मामला, फूलपुर तहसील का घेराव, तहबरपुर और पवई थाने में चुनाव आयोग द्वारा दर्ज दो मामले शामिल हैं।दो दिन पहले रमाकांत को चुनाव आयोग वाले मामले में जमानत मिल गई,लेकिन फूलपुर तहसील घेराव और अंबारी चौक पर फायरिंग की घटना मामले में जमानत अर्जी निरस्त कर दी गई। अब माहुल जहरीली शराब में मास्टरमाइंड के रुप में चिन्हित होने के बाद रमाकांत का जल्द जेल से बाहर आना मुश्किल होगा।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img