- Advertisements -spot_img

Thursday, January 20, 2022
spot_img

काशी में महौल बिगाड़ने की कोशिश? गंगा घाटों पर VHP-बजरंग दल ने लगाए विवादित पोस्टर, लिखा-गैर हिन्दुओं का प्रवेश प्रतिबंधित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक तरफ सीएम योगी कोरोना से लड़ने की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे हैं और छात्रों को स्मार्ट फोन के साथ टैबलेट बांट रहे हैं। दूसरी तरफ हिन्दुवादी संगठनों ने गंगा घाटों पर विवादित पोस्टर चिपकाकर खलबली मचा दी है। 

विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल के नाम से चिपकाए गए इन पोस्टरों में गैर हिन्दुओं को गंगा घाटों पर न आने की हिदायत दी गई है। उनका प्रवेश प्रतिबंधित करने की चेतावनी दी गई है। समाजवादी पार्टी ने इसे चुनाव से पहले माहौल को खराब करने की करतूत बताया है। सूचना मिलते ही पुलिस ने पोस्टरों को उखाड़ना भी शुरू कर दिया है। 

वाराणसी मशहूर गंगा घाटों पंचगंगा, रामघाट, मणिकर्णिका घाट और दशाश्वमेध से लेकर अस्सी घाट तक विहिप और बजरंग दल के नेताओं ने इन पोस्टरों को लगाया है। इनमें साफ तौर पर लिखा गया है कि काशी के गंगा घाट पर गैर-हिंदुओं का प्रवेश वर्जित है। 

पोस्टर पर बड़े अक्षरों में प्रवेश प्रतिबंधित गैर हिन्दू लिखा है। उसके नीचे लिखा है कि मां गंगा काशी के घाट व मंदिर सनातन धर्म, भारतीय संस्कृति श्रद्धा व आस्था के प्रतीक हैं। जिनकी आस्था सनातन धर्म में हो उनका स्वागत है। अन्यथा यह क्षेत्र पिकनिक स्पॉट नहीं है। अंत में बड़े अक्षरों में यह भी लिखा है कि यह निवेदन नहीं चेतावनी है। 

पोस्टरों को लेकर विहिप नेताओं का कहना है कि हिंदुओं को धर्म और समाज की रक्षा के लिए स्वयं आगे आना होगा। सब कुछ सरकार के भरोसे नहीं छोड़ा जा सकता है। जिस भी मंदिर या गंगा घाट पर कोई विधर्मी घुसता नजर आएगा, उसे मौके से ही पकड़ कर पुलिस के हवाले किया जाएगा। मंदिर और गंगा घाट सनातन धर्म के लोगों की आस्था और श्रद्धा के स्थान हैं। यहां अन्य धर्मों के लोगों का क्या काम है? कहा कि यह सब धर्म की रक्षा के लिए किया जा रहा है।

सपा ने कहा-माहौल खराब करने की कोशिश

गंगा घाटों और मंदिरों में इस तरह के पोस्टर लगाने पर समाजवादी पार्टी की तरफ से कड़ी आपत्ति की गई है। समाजवादी पार्टी ने इसे माहौल खराब करने की कोशिश करार दिया है। सपा के प्रवेश प्रवक्ता मनोज राय धूपचंडी ने कहा कि घाट की संपत्ति सार्वजनिक और सबके लिए है। इस तरह का कृत्य जान बूझकर माहौल खराब करने के लिए भाजपा के अनुसांगिक संगठन के लोग कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वाराणसी में लोगों के आय का मुख्य साधन पर्यटन हैं। यहां के घाटों पर देश-विदेश से हर जाति धर्म के लोग आते हैं। अगर इस तरह के कृत्य पर प्रशासन ने कड़ी कारवाई नहीं की तो पर्यटको का आना प्रभावित होगा और बनारस का व्यापार चौपट हो जाएगा। 

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img