- Advertisements -spot_img

Tuesday, November 29, 2022
spot_img

अधेड़ उम्र के लोगों को अपने हुस्न के जाल में फंसाती थी पत्नी, फिर पति करता था ब्लैकमेलिंग, गिरोह का पर्दाफाश

उत्तर प्रदेश के आगरा में युवती पहले फोन करके व्यापारियों को जाल में फंसाती थी और मिलने बुलाती थी। उसके साथी पहले से जाल बिछाकर रखते थे और अश्लील फोटोग्राफ खींच लेते थे। उसके पास बदनाम करने का भय दिखाकर रंगदारी मांगते थे। जगनेर के एक आढ़ती से पांच लाख रुपये वसूले गए। पंद्रह लाख रुपये और मांगे जा रहे थे। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने गैंग के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। चर्चा है कि गैंग ने खेरागढ़ सर्किल के कई व्यापारियों को अपना शिकार बनाया है।

सीओ खेरागढ़ महेश कुमार ने बताया कि जगनेर निवासी 58 वर्षीय केशव सिंह ने जगनेर थाने पर शिकायत की थी। पुलिस को बताया कि तीन नवंबर की शाम करीब चार बजे वह बाइक से घर लौट रहे थे। उनकी जगनेर मंडी में आढ़त है। तांतपुर रोड पर गांव भुम्मा मोड़ पर रूपेंद्र, मनीष पहलवान और भूपेंद्र शर्मा ने उन्हें रोक लिया। उन्हें अंदर जंगल की तरफ ले गए। वहां उनके मुंह पर कुछ डाल दिया। वह बेहोश हो गए। जंगल में एक युवती पहले से मौजूद थी। आरोपियों ने युवती के साथ उनके आपत्तिजनक फोटोग्राफ ले लिए। होश आने पर उन्हें फोटो दिखाए। वायरल करके बदनाम करने की धमकी दी। मामला रफा-दफा करने के एवज में पांच लाख रुपये मांगे। 

उन्होंने एक सेठ को फोन किया। सेठ से पांच लाख रुपये उधार मांगे। सेठ ने रुपये लेने उन्हें अपने ठिकाने पर बुलाया। तीनों आरोपित उन्हें साथ लेकर गए। सेठ से रुपये मिलने के बाद आरोपियों ने उनसे छीन लिए। उन्हें सड़क पर छोड़कर चले गए। पिछले दिनों आरोपियों ने उन्हें फिर रोक लिया। जान से मारने की धमकी दी। पंद्रह लाख रुपये और मांगे। पीड़ित के पास इतने रुपये नहीं थे। उसने हिम्मत जुटाकर पुलिस से शिकायत की।

बदनामी के डर से वह खामोश रहे

पुलिस ने जांच शुरू की तो मामला हनी ट्रैप का निकला। पुलिस को जनकारी मिली कि बसेड़ी (धौलपुर) की 30 वर्षीय युवती और उसका कथित पति भी इस गैंग के सदस्य हैं। युवती फोन करके पैसे वाले लोगों को अपने जाल में फंसाती है। मिलने बुलाती है। जहां मिलने बुलाती है वहां गैंग के सदस्य पहले से छिपे होते हैं। अश्लील फोटो खींच लेते हैं। ब्लैकमेल करके रंगदारी वसूलते हैं। खेरागढ़ सर्किल के कई व्यापारियों के साथ इस तरह की घटना हो चुकी है। उनसे कम रकम वसूली गई थी। बदनामी के डर से वह खामोश रहे। आढ़ती केशव सिंह से पांच लाख रुपये वसूले गए थे। पंद्रह लाख रुपये और मांगे जा रहे थे। इसलिए वह घबरा गए। पुलिस से शिकायत की।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
22FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img