- Advertisements -spot_img

Saturday, January 22, 2022
spot_img

अखिलेश का अंधविश्वास! ‘नोएडा वाले डर’ पर सपा अध्यक्ष ने कबूल किया सच

मुख्यमंत्री रहते कभी नोएडा नहीं जाने के पीछे का सच सोमवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने स्वीकर कर लिया। एक अंधविश्वास के कारण अखिलेश यादव कभी नोएडा नहीं गए। अपने शासन में अखिलेश ने नोएडा को मेट्रो ट्रेन समेत करोड़ों की सौगात दी लेकिन कभी किसी योजना का शिलान्यास या लोकार्पण करने खुद नहीं गए। अखिलेश का मानना है कि नोएडा जाने वाला मुख्यमंत्री चुनाव हार जाता है और सत्ता में वापसी नहीं कर पाता। 

आज तक चैनल पर नोएडा कभी नहीं आने के सवाल पर अखिलेश ने साफ कहा कि ये माना जाता है कि जो भी वहां जाता है दोबारा मुख्यमंत्री नहीं बनता है। हमारे बाबा मुख्यमंत्री भी नोएडा गए थे। वह भी इस बार मुख्यमंत्री नहीं बनने वाले हैं। अंधविश्वास पर कहा कि धर्म भी अंधविश्वास होता है।

यूपी में कानून व्यवस्था पर अखिलेश ने कहा कि एनसीआरबी की रिपोर्ट जनता के सामने रखना चाहिए। महिलाओं पर सबसे ज्यादा अपराध कहीं हो रहा तो वह यूपी है। क्या लोग हाथरस की घटना भूल जाएंगे। लखनऊ के निर्देश पर उस बेटी को परिवार वालों से नहीं मिलने दिया गया। यूपी में अपराध करके आईपीएस फरार है। एनसीआरबी का आकड़ा देखिये, सबसे ज्यादा दंगे किस सरकार में हुए हैं। जीरो टालरेंस की बातें करते हैं लेकिन पुलिस कप्तान फरार है और माफिया क्रिकेट खेल रहा है। जीप चढ़ाकर किसान की हत्या कर देते हैं, ये कानून व्यवस्था है।  

अखिलेश यादव ने कहा कि जनता ने फैसला लगभग पंचायत के चुनावों में ही कर दिया था, लेकिन सरकारी मशीनरी की वजह से बहुत सारे लोग पर्चा तक नहीं भर पाए थे। चुनाव में महिलाओं की साड़ी छीनने, कपड़े फाड़ने की तस्वीरों ने महाभारत की याद दिला दी। ऐसे नजारे लोकतंत्र में कभी किसी ने नहीं देखे होंगे। सपा मुखिया ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि जब जब कोई सम्मान को चोट पहुंचाता, तब तब उसको सजा जरूर मिलती है। जिला पंचायत चुनाव में जिस तरह बेइमानी हुई, उसकी सजा देकर यूपी की जनता भारतीय जनता पार्टी को जरूर देगी।

कृष्ण जी आपके सपने में पूरे पांच साल आए थे, या चुनाव के समय आने लगे हैं? इस सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी को जनता इस बार राधे-राधे कहने वाली है। यानी पार्टी यूपी से जाने वाली है। बीजेपी पर हमलावर पूर्व सीएम अखिलेश ने कहा कि बीजेपी किसानों के वादों पर खरी नहीं उतर पाई। डीजल, कीटनाशक, बीज, रसायनिक खाद के महंगे हो जाने के कारण किसानों के लिए अपनी आय को दोगुना और पैदावार को बढ़ाना दूभर हो चुका है।

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Related Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img

Stay Connected

563FansLike
0FollowersFollow
24FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img
- Advertisements -spot_img

Latest Articles

- Advertisements -spot_img
- Advertisements -spot_img